पूर्वोत्तर: पीएम मोदी का विपक्ष पे हमला, जिस बात पर देश गर्व करता है उसी बात पर इनको दुख होता है

लोकसभा चुनाव के मद्देनज़र प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी लगातार एक दिन में 3-3 रैलियां कर रहे हैं | इस ही क्रम में शनिवार को प्रधानमन्त्री मोदी ने पूर्वोत्तर भारत के अरुणाचल प्रदेश और असम का में चुनाव प्रचार रैलियां की | जिसकी शुरुआत उन्होंने अरुणाचल प्रदेश से की, जहाँ उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी पर निशाना साधते हुए कहा कि पहले नामदार परिवार और यहां पर बैठे उनके रागदरबारी अपनी सल्तनत को मजबूत कर रहे थे | उन्हें आपकी भलाई से ज्यादा मलाई की जरूरत थी। हम आपकी भलाई के लिए काम करते हैं और वो मलाई के लिए काम करते थे | अगर दोबारा घुसने दिया तो वह मलाई खा जाएंगे | वहीं असम में चुनाव प्रचार रैली के दौरान उन्होंने कहा कि भारत ने पहली बार आतंकियों के घर में घुसकर मारा, लेकिन कांग्रेस परेशान है | सेना के पराक्रम के बाद एक ओर जहां भारत के साथ पूरी दुनिया खड़ी हो गई वहीं कांग्रेस की नींद उड़ गई है |

अरुणाचल को पहली बार रेल मैप पर आपका ये चौकीदार ही लाया – पीएम मोदी

अरुणाचल प्रदेश में अपनी रैली के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि ये मेरा सौभाग्य है कि देश के इस महत्वपूर्ण भाग को मैं पिछले पांच वर्ष से नए भारत का नया ग्रोथ इंजन बनाने का प्रयास कर रहा हूं | साथ ही अपने काम का हिसाब देने की शुरुआत भी अरुणाचल प्रदेश से ही हो रही है | उन्होंने कहा कि आपने बताया था कि यहां कोई प्रधानमंत्री 30 साल बाद आया है | लेकिन आपका ये प्रधान सेवक बीते 5 वर्षों में ही 30 से भी ज्यादा बार यहां आ चुका है | पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस ने अरुणाचल की परवाह कभी नहीं की | आजादी के 7 दशक बाद अरुणाचल को पहली बार रेल मैप पर लाने का काम इस चौकीदार ने ही किया | जो बोगीबील पुल बरसों से लटका हुआ था, उसके बनने से पूर्वी जिलों के हज़ारों लोगों की इटानगर से दूरी 16 घंटे से घटकर 4-5 घंटे रह गई है | आजादी के 70 साल बाद आपको हवाई कनेक्टिविटी मिल पाई है, अरुणाचल को एक्सप्रेस ट्रेन से दिल्ली से जोड़ने का काम भी 7 दशकों बाद हो पाया है |

अरुणाचल: हम आपकी भलाई के लिए काम करते हैं और वो मलाई के लिए काम करते थे – पीएम मोदी

हमारी सरकार ने आपकी आशाओं, आकाक्षाओं को सम्मान दिया | आजादी के 7 दशक बाद अरुणाचल को रेलवे मैप में लाने का अवसर इस चौकीदार को मिला | पीएम ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि पहले नामदार परिवार और यहां पर बैठे उनके रागदरबारी अपनी सल्तनत को मजबूत कर रहे थे | उन्हें आपकी भलाई से ज्यादा अपनी मलाई की चिंता थी | अगर दोबारा घुसने दिया तो वह मलाई खा जाएंगे |

इनकी सरकार दिल्ली में हो या फिर किसी भी राज्य में, कांग्रेस की हमेशा करप्शन से मज़बूत सांठगांठ रही है – पीएम मोदी

पीएम मोदी ने कहा कि 5 साल का सेवाभाव और 55 साल के सत्तासुख का फर्क यही होता है | इनकी सरकार दिल्ली में हो या फिर किसी भी राज्य में, कांग्रेस की हमेशा करप्शन से मज़बूत सांठगांठ रही है | आपको पता है, यहां इनके जो नेता गरीबों की थाली से निवाला चुराते हैं उन्हें प्रेरणा कहां से मिलती है | इनकी प्रेरणा हैं दिल्ली में बैठे वो नेता जो इनकम टैक्स चुराते हैं, किसानों की ज़मीन चुराते हैं और देश के रक्षा सौदों में दलाली से भी अपनी प्रॉपर्टी बनाते हैं |

जिस बात पर देश गर्व करता है उसी बात पर इनको दुख होता है – पीएम मोदी

मोदी ने कहा,

जब भारत ने आतंकियों को घर में घुसकर मारा, तो इनका क्या रवैया रहा, ये भी आपने देखा है | जब हमारे वैज्ञानिक दुनिया को हैरान कर देते हैं, तो भी ये उसका मजाक उड़ाने के बहाने खोज लेते हैं | आपने सर्जिकल स्ट्राइक के समय ये खुद देखा है | जब भारत ने आतंकियों को घर में घुसकर मारा, तो इनका क्या रवैया रहा |

पीएम ने विपक्ष का घेराव करते हुए कहा कि जब हमारे वैज्ञानिक दुनिया को हैरान कर देते हैं, तो भी ये उसका मजाक उड़ाने के बहाने खोज लेते हैं | जिस बात पर देश गर्व करता है उसी बात पर इनको दुख होता है | दुनिया में भारत का डंका बजता है तो ये तिलमिला जाते हैं | ये वही भाषा बोलते हैं जो आतंकवादियों के आका बोलते हैं | आज हिन्दुस्तान में इनकी पूछ नहीं है, लेकिन पाकिस्तान में जय-जयकार हो रही है |

5 वर्ष में आपके इस चौकीदार ने असम के विकास के लिए जो कार्य किये, आज उनका हिसाब लेकर आया हूँ – पीएम मोदी

modi in north east 2

असम में रैली के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि बीते 5 वर्ष में आपके इस चौकीदार ने असम के विकास के लिए जो कार्य किये, आज उनका हिसाब लेकर मैं आप सबके सामने उपस्थित हुआ हूं | आपके विश्वास के कारण ही मैं देश के, असम के गरीब, वंचित, पीड़ित आदिवासी बहन-भाइयों के जीवन को बदलने का प्रयास कर पाया हूं | आजादी के 70 साल बाद भी असम के केवल 40% घरों में बिजली पहुंची थी | लेकिन आज लगभग हर घर तक बिजली पहुंच गयी है। ये सब आपके आशीर्वाद से ही संभव हुआ है | असम के 27 लाख परिवारों को हर वर्ष 5 लाख तक का मुफ्त इलाज, करीब 50 लाख मुद्रा लोन देकर लाखों युवाओं को स्वरोजगार से जोड़ना, 5 लाख गरीबों को पक्के घर देना, पांच लाख तक की आय को टैक्स फ्री करना, असम की सांस्कृतिक विरासत की रक्षा हो या घुसपैठियों को बाहर करना हो, असम के लाखों श्रमिकों, चौकीदारों, ड्राइविंग का काम करने वालों, घरों में काम करने वालों, खेतों और बागानों में काम करने वालों के लिए 60 वर्ष की आयु के बाद 3 हज़ार रुपए की नियमित पेंशन का प्रावधान आदि आपके विश्वास के कारण ही मैं कर पाया हूं |

आपको तय करना है, दमदार सरकार चाहिए या फिर दागदार सरकार – पीएम मोदी

पीएम मोदी ने राष्ट्रवाद के मुद्दे पर भी कांग्रेस को घेरते हुए कहा कि भारत ने पहली बार आतंकियों के घर में घुसकर मारा, लेकिन कांग्रेस परेशान है | भारत के साथ पूरी दुनिया खड़ी हो गई, लेकिन कांग्रेस की नींद उड़ गई | आप सब इन बातों से खुश हैं, लेकिन दो जगहों में खुशी नहीं है। उसमें एक जगह है कांग्रेस का परिवार और दूसरा आतंकियों का घर-बार | 11 अप्रैल को जब आप कमल के फूल के सामने वाला बटन दबाएंगे तो इन्हीं दो जगहों पर सन्नाटा छाने वाला है | कांग्रेस ने ऐसी सरकार चलाई है, जिसने भारत जैसे विराट देश की पहचान एक पीड़ित देश की बना दी थी | अब आपको तय करना है, दमदार सरकार चाहिए या फिर दागदार सरकार |

उनको चौकीदार से नफरत तो थी ही, चाय वालों से भी परेशानी है – पीएम मोदी

पीएम मोदी ने असम में कहा कि उनको चौकीदार से तो नफरत तो है ही, चायवालों से भी ये तिलमिलाए हैं। चाय उगाने वालों से लेकर चाय बनाने वालों की तरफ ये देखते नहीं | असम में चाय की खेती करने वालों का इन्होंने दशकों तक भला नहीं किया | ये चाय वाला, आपके जीवन को आसान बनाने के लिए प्रतिबद्ध है | लटकाने और भटकाने में तो कांग्रेस को मास्टरी हासिल है | गैस क्रैकर प्रोजेक्ट, ढोला-सादिया पुल हो या फिर बोगीबील पुल, दशकों से लटके ऐसे अनेक काम आपके इस चौकीदार की सरकार ने ही पूरे कराए हैं |

नामदार खुद जमानत पर हैं, चौकीदार को गाली दे रहे हैं – पीएम मोदी

पीएम ने भ्रष्टाचार के मुद्दे पर कांग्रेस को घेरते हुए कहा कि दिल्ली में बैठे इनके नेता इनकम टैक्स चुराते हैं, नामदार को खुद जमानत मिली हुई है | अगर ये न मिलती तो कहां होते? खुद तो बच गए और चौकीदार को गाली दे रहे हैं? उन्होंने कहा कि इन लोगों की टेकन फॉर ग्रांटेड की पुरानी आदत रही है | इन्हें देश और युवाओं के सामर्थ्य पर भरोसा नहीं है | ये ऐसे लोग हैं कि देश की उपलब्धियों पर नामदारों और रागदरबारियों के चेहरे लटक जाते हैं, बस रोना रह जाता है |

आपको बता दें कि दोनों राज्यों (असम और अरुणाचल) में पहले चरण में 11 अप्रैल को मतदान होना है | ऐसे में बीजेपी को पूर्वोत्तर भारत से ढेरों उम्मीदें हैं | बीजेपी ने इस बार पूर्वोत्तर की 25 लोकसभा सीट जीतने का लक्ष्य रखा है | पिछली बार एनडीए को 8 सीटें मिली थीं | अरुणाचल की दो लोकसभा और 60 विधानसभा सीटों पर एक साथ मतदान होना है | दूसरी ओर, असम लोकसभा सीटों के लिहाज से सबसे बड़ा राज्य है, यहां 14 सीटों पर 11, 18 और 23 अप्रैल को मतदान होगा, सभी राज्यों के नतीजे 23 मई को आयेंगे |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Pin It on Pinterest